कांग्रेस की स्थापना के पूर्व मुख्य राजनीतिक संगठन

Spread the love

भारत में पाश्चात्य संस्कृति तथा विचारों के उपस्थिति के कारण अनेक शक्तियों का जन्म हुआ,जो ब्रिटिश साम्राज्यवाद के लिए गंभीर चुनौतियों का कारण बन गई । भारत में कांग्रेस की स्थापना के पूर्व मुख्य राजनीतिक संगठन की के निर्माण होने की वजह से भारत में राष्ट्रवाद,राष्ट्रीयता एवं राजनीतिक अधिकारों जैसी अवधारणाओं का विकास हुआ ।

कांग्रेस की स्थापना के पूर्व मुख्य राजनीतिक संगठन : 1885 ई० से पहले अर्थात कांग्रेस की स्थापना से पूर्व मुख्य राजनीतिक संगठनों का निर्माण हुआ,जो राष्ट्रवादी विचारों की दिशा में अथक प्रयास किए।

महत्त्वपूर्ण राजनीतिक संगठनों की सूची –

1. बंगाल में राजनीतिक संगठन

·       बंगभाषा प्रकाशक सभा

·       लैंड होल्डर्स सोसायटी या जमीदारी एसोसिएशन

·       बंगाल ब्रिटिश इंडिया सोसायटी

·       ब्रिटिश इंडिया एसोसिएशन

·       इंडियन लीग

·       कलकत्ता स्टूडेंट्स एसोसिएशन

·       इंडिया एसोसिएशन

·       भारतीय जनपद सेवा आंदोलन

2. बम्बई में राजनीतिक संगठन

·       बम्बई एसोसिएशन

·       बम्बई प्रेसिडेंसी एसोसिएशन

·       पूना सार्वजनिक सभा

3. मद्रास में राजनीतिक संगठन

·       मद्रास नेटिव एसोसिएशन

·       मद्रास महाजन सभा

4. लंदन में राजनीतिक संगठन

·       लंदन इंडियन कमेटी

·       लंदन इंडिया सोसायटी

·       ईस्ट इंडिया एसोसिएशन

कांग्रेस की स्थापना के पूर्व मुख्य राजनीतिक संगठन : बंगाल में राजनीतिक संगठन –

  • राजराममोहन राय प्रथम व्यक्ति थे जो आधुनिक भारत में समाज सुधार कार्यों व राजनीतिक आंदोलन का शुभारंभ किया ।
  • यह पाश्चात्य विचारों से बहुत प्रभावित थे ।
  • इन्होंने समाचार पत्रों की स्वतंत्रता,सिविल न्यालयों में भारतीयों की नियुक्ति एवं उच्च पदों आदि की मांग की ।
  • 1830 ई. के दशक में राष्ट्रीय जागरण की भावनाओ के बीजरोपन में हेनरी विवियन डेरोंजियों का नाम प्रसिद्धि है।
  • हेनरी के अनुयाई डेरोंजियन कहलाते थे ।
  • डेरोंजियों हिन्दू कालेज कलकत्ता में अध्यापक थे ,इन्होंने एक समाचार पत्र दि ईस्ट इंडियन का प्रकाशन किया ।

1. बंगभाषा प्रकाशक सभा

स्थापना – 1836

संस्थापक – राजराममोहन राय एवं उनके साथी

उद्देश्य – सरकारी क्रियाकलापों कि समीक्षा कर उनके सुधार के लिए प्रार्थना पत्र देना ।

2. लैंड होल्डर्स सोसायटी (जमीदारी एसोसिएशन )

स्थापना – 1838 ई.

स्थान – कलकत्ता

संस्थापक – द्वारिका नाथ टैगोर एवं सहयोगी

  • यह पहला एसोसिएशन था,जिसने संगठित राजनीतिक प्रयासों का शुभारंभ किया एवं शिकायतों को दूर करने के लिए संवैधानिक उपचारों का प्रयोग किया ।
  • लैंड होल्डर्स सोसायटी के भारतीय नेता – द्वारिका नाथ टैगोर, राजा राधाकान्त देव, प्रसन्न कुमार ठाकुर, राजा काली कृष्ण आदि ।
  • इस सोसायटी के अंग्रेज नेता – थियोडोर डिकेंस, विलियम काब्री, विलियम थियोवोल्ड, एवं जे.ए.प्रिंसेप आदि।
  • इस सोसायटी के भारतीय सचिव – प्रसन्न कुमार ठाकुर
  • अंग्रेज सचिव – विलियम काब्री
  • लंदन में इसके प्रतिनिधि – जॉन क्राफ़र्ड

3. बंगाल ब्रिटिश इंडिया सोसायटी

स्थापना – 1843 ई.

संस्थापक – जार्ज थामसन

सचिव –प्यारी चंद्र मित्र

उद्देश्य –अंग्रेजी शासन में भारतीयों की वास्तविक विषय के बारें में जानकारी प्राप्त कर उसका प्रचार प्रसार करना ।

4. ब्रिटिश इंडियन एसोसिएशन

स्थापना – 28 अक्टूबर 1851ई.

संसाथपक –राजा राधाकान्त देव

  • लैंड होल्डर्स सोसायटी एवं बंगाल ब्रिटिश इंडिया सोसायटी के असफल होने के कारण दोनों को मिलकर ब्रिटिश इंडियन एसोसिएशन का गठन किया गया।
  • यह एसोसिएशन भूमि के मालिकों के हितों के लिए मुख्य रूप से कार्य कर रही थी ।
  • इसके प्रयास से 1853 ई. में चार्टर के नवीन के समय ब्रिटिश संसद को एक पत्र भेजा गया।
  • इस पत्र में – लोकप्रिय विधानसभा की न्यायिक एवं दंडात्मक कार्य को अलग लिए जाने साथ हियाधिकारियों के वेतन कम किए जाने,नमक,आबकारी एवं स्टाम्प कर को समाप्त किए जाने की मांग की गई।
  • इस चार्टर एक्ट में 6 सदस्य और कानून बनाने के लिए गवर्नर जनरल की कार्यकारणी में जोड़ दिए गए।
  • बंगाल में इस सभा का नाम भारत वर्षीय सभा रखा गया,राधा कान्तदेव इसके अध्यक्ष थे ।
  • इसमें व्यापारी और जमींदार वर्ग के लोग शामिल थे ।
  • इस सभा ने नील विद्रोह की जांच बैठने की मांग की।
  • 1860 ई. में अकाल पीड़ितों के लिए धन एकत्र किया गया ।
  • “हिन्दू पैट्रियाट” इसका मुख्य पत्र था ।

5. इंडियन लीग

स्थापना –सितंबर 1875 ई.

संस्थापक – शिशिर कुमार घोष

स्थान – कलकत्ता

अस्थायी अध्यक्ष – शंभू चंद्र मुखर्जी

मुख्य उद्देश्य – लोगों में राष्ट्रवाद की भावना का विकास कर राजनीतिक शिक्षा का बढ़ावा करना ।

6. कलकत्ता स्टूडेंट्स एसोसिएशन

स्थापना – 1875 ई.

संस्थापक – आनंदमोहन बोस

7. इंडियन एसोसिएशन

स्थापना – 26 जुलाई 1876ई.

संस्थापक – सुरेन्द्र नाथ बनर्जी एवं आनंद मोहन बोस

स्थान – कलकत्ता के अल्बर्ट हाल में

मुख्य उद्देश्य – मध्यम वर्ग के साथ – साथ साधारण वर्ग को भी इसमें शामिल करना ।

  • इस एसोसिएशन में शामिल होने के लिए 5 रुपये वार्षिक शुल्क रखा गया ।
  • कुछ समय बाद इसके अध्यक्ष कलकत्ता के बैरिस्टर मनमोहन घोष चुने गए ।
  • इस एसोसिएशन ने सिविल सर्विसेज आन्दोलन चलाया,जिसे भारतीय जनपद सेवा आन्दोलन कहा गया ।
  • इस संगठन ने वर्नाक्यूलर प्रेस एक्ट,आर्म्स एक्ट,इलबर्ट बिल के विरोध में आन्दोलन चलाया।
  • भारतीय जनपद सेवा या सिविल सर्विसेज आंदोलन
  • भारत में सिविल सेवा के जन्मदाता – कार्नवालिस था।
  • भारतीयों के लिए 1853 ई. सिविल सर्विसेज के दरवाजे खुल गए थे ।
  • 1861 ई. में इस परीक्षा शामिल होने के लिए आयु 22 वर्ष थी ।
  • यह परीक्षा केवल लंदन में होती थी ।
  • 1863 ई. में प्रथम भारतीय ICS सत्येन्द्र नाथ टैगोर हुए ।

बम्बई में राजनीतिक संगठन

1. बम्बई एसोसिएशन

स्थापना – 26 अगस्त 1852 ई.

संस्थापक – दादाभाई नौरोजी

स्थान –बम्बई

मुख्य उद्देश्य  – सरकार को समय समय पर ज्ञापन देकर हानिकारक समझे जाने वाले नियमों एवं सरकारी नीतियों के लिए सुझाव देना ।

2. बम्बई प्रेसिडेंसी एसोसिएशन

स्थापना – 31 जनवरी 1885 ई.

संस्थापक – फिरोजशाहमेहता,बदरूदीन तैयब,के टी तैलंग और काशीनाथ

मुख्य उद्देश्य – राजनीतिक विचारों का प्रचार प्रसार करना ।

3. पूना सार्वजनिक सभा

स्थापना – 1870 ई.

संस्थापक – एम.जी.रानाडे एवं गणेश वासुदेव जोशी

मुख्य उद्देश्य – सरकार के वास्तविक उद्देश्य क्या है, एवं अपने अधिकार को कैसे प्राप्त किया जाय ।

मद्रास में राजनीतिक संगठन

1. मद्रास नेटिव एसोसिएशन

स्थापना – 26 फरवरी 1852

संस्थापक – गजुलू लक्ष्मी नरसुचेट्टी

अध्यक्ष – सी वाई मुदलियार

सचिव – वी रामानुजचारी

  • इस एसोसिएशन ने 1857 ई. के विद्रोह की नींद की थी ।

2. मद्रास महाजन सभा

स्थापना – 1884 ई.

संस्थापक – एम वीर राघवचारी,जी सुब्रह्यम अय्यर एवं आनंद चारलू

अध्यक्ष – पी रंगिया नायडू

सचिव – वीर राघवाचारी

मुख्य उद्देश्य – विधान परिषदों के सुधार ,कार्य पालिका से न्यायपालिका का अलगाव ।

लंदन में राजनीतिक संगठन

1. लंदन इंडियन कमेटी

स्थापना -1862 ई.

स्थान –लंदन

संस्थापक – पुरुषोत्तम मुदलियार

2. लंदन इंडिया सोसायटी

स्थापना – 1865 ई.

स्थान – लंदन

संस्थापक – दादा भाई नौरोजी

3. ईस्ट इंडिया एसोसिएशन

स्थापना – 01 दिसंबर 1866ई.

स्थान – लंदन

संस्थापक – दादा भाई नौरोजी

मुख्य उद्देश्य – ब्रिटिश जनता तथा संसद को भारतीय विषयों से अवगत करना।

  • इस संगठन को सबसे अधिक समर्थन भारत में बम्बई प्रेसिडेंसी में मिला ।
  • 22 मई 1869 ई. को बम्बई इसकी शाखा स्थापित हुई , जिसके सचिव फिरोजशाह मेहता एवं एच वी एम वाग्ले थे, तथा अध्यक्ष – जमशेदजी जीजी भाई थे ।

आप इसे भी पढ़ें –

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम एवं प्रमुख तथ्य

 


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *