परीक्षा में अच्छे अंक लाने के उपाय

Spread the love

परीक्षा में अच्छे अंक लाने के उपाय ,“परीक्षा” एक ऐसा शब्द है ,जिसे सुनकर लगभग सभी स्टूडेंट्स के हृदय में एक हलचल बढ़ जाती  है । स्टूडेंट्स कितनी परीक्षाएं क्यों न दिया हो ,मगर सामने आने वाली परीक्षा से मन घबराने लगता है .

परीक्षा-में-अच्छे-अंक-के-उपाय

वास्तव में सामने वाली परीक्षा से दिल इतना डर जाने का परिणाम इस तरफ दर्शाता है ,की तैयारी हमने पूरे मन से नहीं की है ।परीक्षा में फेल हो जाने के डर से परीक्षा की चिंता बढ़ जाती है । परीक्षा को लेकर चिंता करना नहीं चाहिए ,बल्कि पूरी तरह से सतर्क हो जाना चाहिए ।

इस अवसर का लाभ लेते हुए अपनी पढ़ाई के प्रति लग्न से जुट जाना जाना चाहिए । परीक्षा को लेकर कुछ चिंतित होना जरूरी और लाभप्रद है ,मगर तब तक ही ,जब तक की आप का आत्मविश्वास प्रभावित न हो । ऐसा हमेशा देखा गया है, की अधिक चिंता करने वाले स्टूडेंट्स की अपेक्षा कम चिंता करने वाले स्टूडेंट्स अच्छा प्रदर्शन करते है ।

परीक्षा में अच्छे अंक लाने के उपाय : परीक्षा को लेकर डरने के मुख्य लक्षण –

परीक्षा से पूर्व या परीक्षा के दौरान कुछ स्टूडेंट्स में विभिन प्रकार की शारीरिक ,मानसिक और व्यावहारिक समस्याओं का अनुभव का अनुभव करते है । हमारे कुछ स्टूडेंट्स तो यह भी समझ नहीं पाते है ,की यह समस्या परीक्षा के डर के कारण है । यदि आप सबको भी इस प्रकार की परेशानियाँ महसूस हो रही है तो तो संभव है की आप भी परीक्षा से चिंतित है ।

शारीरिक,मानसिक और व्यवहारिक परेशानियों के प्रमुख लक्षण –

शारीरिक मानसिक व्यावहारिक
थकावट तनाव अनिद्रा
सीने में दर्द चिंता  सुस्त
सिरदर्द घबराहट कक्षा में न बैठना
पेट में खराबी चिड़चिड़ापन बेचैनी
दिल की धड़कन का तेज होना निराशा अल्कोहल का प्रयोग

परीक्षा में अच्छे अंक लाने के उपाय : परीक्षा के डर से बचने के लिए उपयुक्त तैयारी करें –

परीक्षा में अच्छे मार्क्स लाने के लिए और परीक्षा की चिंता से मुक्त होने के लिए सबसे विशिष्ठ मार्ग है परीक्षा की उत्तम तैयारी । एक अच्छी तैयरी के बिना कोई और तकनीक नहीं है ,की परीक्षा में मददगार साबित हो सके । जो भी संसाधन हमारे पास हो उसी को लेकर समय से तैयारी करनी चाहिए । परीक्षा का दिनांक तथा समय को ध्यान में रखकर एक टाइम टेबल के अनुसार हर एक विषय की करें ।

  • आप परीक्षा के लिए अच्छी तैयारी हेतु समूह में रहकर पढ़ाई करें ।
  • टाइम-टेबल को दृढ़ता से पालन करें ,और दोहराएं ।
  •  हमेशा परीक्षा के लिए आवश्यक सामग्री पहले जुटा कर रखें ।
  • परीक्षा के साथ-साथ शारीरिक और मानसिक विश्राम भी जरूर करें ।
  • नकारात्मक सोच को मन में कदापि न लाएं ।
  • कभी भी परीक्षा के दौरान अनावश्यक बहसबाजी से बचें, और खुद पर भरोसा करें ।
  • परीक्षा हाल में पेपर को ध्यानपूर्वक पढ़ें । सर्वप्रथम आप पहले उन प्रश्नों को हल करें जो आप को अच्छी तरह से आते हो ।
  • परीक्षा हाल में पर्याप्त समय में से अपने पास इतना समय जरूर रखें की ,की आप के द्वारा दिए हुए प्रश्नों को दोहरा सकें ।

स्वयं के द्वारा बना हुआ एक अच्छा नोट्स –

स्टूडेंट्स को चाहिए ,की प्रत्येक विषय का अध्ययन करने के उपरांत स्वयं के द्वारा लिखा हुआ नोट्स बना लेना चाहिए ,जिससे की परीक्षा नजदीक आने पर पुनः किताबों को पढ़ने में ज्यादा समय न खराब करना पड़े ।

नोट्स के लक्षण –

  • हमारे लेख सरल  भाषा में हो ,जिससे पढ़ने में रुचिकर लगे
  • नोट्स वन लाइनर या छोटे अनुच्छेद में लिखे हो ।
  • यह नोट्स चित्रात्मक होना चाहिए ।
  • नोट्स लगभग हर विषय के बनाना चाहिए ।

परीक्षा में अच्छे अंक लाने के उपाय से संबंधित सावधानीयां-

परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए निम्न सावधानियों को भी रखना जरूरी है ।

  1. आनिद्रा से बचना –
  2. सोने की खराब आदत ,जिसमें सोने या उठने का कोई निश्चित समय न होना ।
  3. अनुपयुक्त जीवन शैली ।
  4. दिमागी समस्याएं ।
  5. अन्य समस्याएं ।
  6. इससे बचने के उपाय –
  7. सोने और उठने का एक नियमित समय होना चाहिए ।
  8. सोने के कमरे में एक आरामदायक एर शांति का वातावरण होना चाहिए ।
  9. रात को हल्का भोजन लेना चाहिए ।
  10. नियमित व्यायाम करना चाहिए ।
  • आलस्य अथवा टाल मटोल से बचना –
  1. टाल-मटोल का मुख्य कारण काम में रुचि न होना ।
  2. अभी कर लूँगा या थोड़ी देर में कर लूँगा ।
  3. अभी इतनी भी जल्दी क्या है ?
  4. चलो इतना काम तो निपट ही लिया ।
  5. काम तो पूरा हो नही पाएगा ,फिर चिंता करने की क्या जरूरत है ?

प्राथमिकता के आधार पर कार्यों की सूची बनाएं –

परीक्षा के महत्त्व और उसकी तात्कालिक जरूरत को आधर मानकर दिन प्रतिदिन के कार्यों की सूची बनाएं । और उसे प्रतिदिन पूरा करने का भरसक प्रयास करें । यदि जो कार्य आज नहीं हुआ ,उसे कल की सूची में सबसे ऊपर रखें ।

कार्य के प्रति पूरी ईमानदारी रखें –

पढ़ाई से संबंधित जो कार्य करने है उसे पूरा करने का समय निश्चित करते हुए ,खुद के साथ एक करार करें ,तो अच्छा होगा। समय सीमा के अंदर कार्य पूरा होने पर ,उसकी उपलब्धि का परिणाम बहुत ही अच्छा होता है ।

किसी ने कहा है –

“आप अतीत को नहीं बदल सकते ,यह एक दुःखद बात है,लेकिन आप भविष्य को बदल सकते है ,यह एक सौभाग्य की बात है”।

कैसे दें परीक्षा की तैयारी को अंतिम रूप –

जैसे –जैसे परीक्षा समीप आती है ,तो उसको मन में लेकर भय बढ़नें लगता है । ऐसे हमें कुछ सावधानियाँ बरतनी चाहिए । यदि आपने पूर्व ही अपनी समय सारणी के अनुसर अपना पाठ्यक्रम परीक्षा से पहले पूरा कर लिया है, तो चिंता करने की जरूरत नहीं है । परीक्षा से पहले खुद को संतुलित और शांति बनाए रखने की जरूरत है ।

परीक्षा से पूर्व के छह दिन –

संसार में समय से ज्यादा महत्त्वपूर्ण कोई वस्तु नहीं है। जोकी यह कमान से तीर निकलने की तरह है ,जो निकलने के बाद पुनः वापस नहीं आती है ।

परीक्षा से पूर्व का छठवाँ दिन –

  • परीक्षा में क्या –क्या और किस रूप में पूछा जाएगा –इसे लेकर एक बार पुनः आश्वस्त हो लें ।
  • क्या आपने अब तक अपना पूरा पाठ्यक्रम पूरा कर लिया?यदि नहीं तो अब बहुत देर हो गई है । यह समय तो आपको अपनी तैयारी का पुनरीक्षण करने के लिए है ।
  • अध्यापक के व्याख्यान के आधार पर या उसकी मदद से आपने जो नोट्स तैयार किया है ,उसे पूरी तरह से दोहरा लें।

परीक्षा से पूर्व का पाँचवाँ दिन –

  • अपने पढ़ने का समय सीमित कर देना चाहिए ।
  • जो पाठ्य सामग्री कम महत्त्वपूर्ण है ,उसे इस दायरे से बाहर कर दें ।
  • जो पाठ्य सामग्री सबसे ज्यादा महत्त्वपूर्ण लगे ,उस पर ज्यादा ध्यान दें ।

परीक्षा से पूर्व का चौथा दिन –

जिस प्रकार परीक्षा के नजदीक होने के कारण कम समय रह जाता है ,तो विस्तृत पाठ्य सामग्री को समेट लेना चाहिए । अति महत्त्वपूर्ण सामग्री को रेखांकित कर उस पर विशेष ध्यान देना चाहिए ।

परीक्षा से पूर्व तीसरा दिन –

  • अपने सभी महत्त्वपूर्ण और अति महत्त्वपूर्ण सामग्री को अच्छी तरह समझकर याद कर लें ।
  • आप प्रश्नों के उत्तर अच्छी तरह से लिखने का अभ्यास कर लिया है ।
  • आप उत्तर में आने वाले उदाहरणों के स्थान पर खुद तैयार किए हुए उदाहरणों को अच्छी तरह से व्यक्त कर सकते है।

परीक्षा से पूर्व दूसरा दिन –

इस दिन परीक्षा की तैयारी का अंतिम दिन मान लेना चाहिए । क्योंकि अगले दिन यानि परीक्षा से एक दिन पहले आपको महत्त्वपूर्ण तैयारी करनी है । महत्त्वपूर्ण और अति महत्त्वपूर्ण पाठ्य सामग्री को दोहरा लें ।

परीक्षा से ठीक पूर्व का एक दिन –

यह दिन प्रत्येक दशा से बहुत महत्त्वपूर्ण है । इस दिन आपको पूरी तरह से शांत,स्वस्थ्य और संतुलित बने रहना है । पूरे पाठ्यक्रम की पूरी सामग्री ,जिसमें से परीक्षा में प्रश्न पूछे जाने है ,को प्रारम्भ से अंत तक एक बार जरूर दोहरा लें । इसके बाद आप रात में पूरी तरह से पर्याप्त नींद लें ।

परीक्षा का दिन –

सुबह सोकर जल्दी उठना चाहिए ,और परीक्षा के लिए निकलने से पहले पूरी सामग्री –जो आपने पिछली रात पढ़ी थी को एक बार दोहरा लें ,सिर्फ शब्दों को ताजा करने के लिए , रटें बिल्कुल नही । परीक्षा के लिए निकलते समय अंतिम मिनटों में कुछ न पढ़ें।

कुछ मुख्य विंदु पर ध्यान दें –

  • परीक्षा के लिए निकलने से पहले हल्का भोजन लें ,भारी भोजन करने से बचे ।
  • अपनी पसंद का कपड़ा पहने ।
  • परीक्षा भवन के लिए निकलने से पहले ,अपने पास प्रवेश पत्र ,कलम ,पेंसिल और अन्य सामग्री जरूर चेक कर लें ।
  • आप  केंद्र पर  समय से पहुँच कर सीट पर बैठ जाएं ।

परीक्षा भवन में –

परीक्षा भवन में अपना आत्म विश्वास और मनोबल को बनाए रखे । मन पर किसी प्रकार का दबाव न महसूस होने दें । उत्तर पुस्तिका मिलने पर उसमें आवश्यक सूचनाएं सही से अवश्य भरें। अपनी उत्तर पुस्तिका को अच्छी तरह चेक कर लें की कही कटी और फटी तो नहीं है ।

प्रश्न पत्र मिलने पर उसे भी चेक कर लें ,की साफ और सुथरा है ,कटा या मिस्प्रिन्ट तो नहीं है । प्रश्नों को ध्यान से पढ़े और प्रश्नों के अंक व्यवस्था को ध्यान में रखकर अपने पास उपलब्ध कुल समय को अलग – अलग प्रश्नों में अवश्य बाँट दें । अपने पास एक घड़ी अवश्य रखे ,जिससे की समय का विशेष ध्यान रहें । उत्तर लिखते समय दूसरे स्टूडेंट्स के बारें में सोचने के बजे अपने उत्तर पर ही ध्यान केंद्रित रखे ।

  सफलता के लिए शुभकामनाएं !

किसी ने कहा है – “लक्ष्य को ही अपना जीवन कार्य समझो,उसी का चिंतन करो ,उसी का स्वप्न देखो”

 

आप इसे भी पढ़ें – 

कांग्रेस की स्थापना के पूर्व मुख्य राजनीतिक संगठन

 


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *